PRESS RELEASE (By Dr Manmohan Vaidya on Shri Sushilkumar Shinde's statement)

PRESS RELEASE

Issued by: Dr Manmohan Vaidya, (Akhil Bharatiya Prachar Pramukh, RSS)

Date: January 20, 2013, New Delhi

HINDI:

गृहमंत्री सुशीलकुमार शिंदे ने जयपुर में कांग्रेस के अधिवेशन में दिए बयान में हिंदू आतंकवाद शब्द का प्रयोग करना अत्यंत अनुचित और आपत्तिजनक है।  हम इसकी घोर भर्त्सना करते हैं. आतंकवाद आतंकवाद है. उसे हिंदू या अन्य किसी धर्म के साथ जोड़ना उचित नहीं है।  गृहमंत्री ने आतंकवाद की जिन घटनाओं का उल्लेख किया है उनकी अभी भी जाँच चल रही है।  ऐसे में गृहमंत्री ने ऐसे बयान देना जाँच प्रक्रिया को प्रभावित करने का प्रयास है जो आपत्तिजनक है।

जिहादी आतंकवाद पर काबू पाने में अपनी असफलता को ढँकने के प्रयास में कांग्रेस सरकार ऐसे राजकीय बयान पहले भी देते आई है।  अकबरुद्दीन ओवैसी के प्रक्षोभक एवं देश विरोधी बयान के पुख्ता सबूत होने के बाद भी सरकार करवाई करने से कतरा रही थी। जनता के दबाव और न्यायालय के आदेश के बाद  उन्हें कारवाई करनी पड़ी। अफजल गुरु की फांसी की सजा सर्वोच्च न्यायालय ने कायम करने के बाद भी उसपर अमल नहीं हो रहा है।  ऐसी नाकामियों को छिपाने के लिए गृहमंत्री ऐसे राजकीय बयान दे रहे है।

ENGLISH: The comments made by Home Minister Shri Sushil Kumar Shinde at Jaipur Congress Conference, using the word “Hindu Terrorism” is highly incorrect, objectionable and dangerous. We strongly condemn his statements. Terrorism is just terrorism, it cannot be associated Hindu or with any other religion. The case which was mentioned by Shinde, is still under investigation. His comment is an attempt to influence the proceedings of the case.

Congress has been issuing such statements to hide its failure in tackling the Jihadi terrorism. Government was not willing to take proper action on Akrabuddeen Owaisi in spite of evidences of his anti-national statements. Later the govt had to take action because of pressure from public and the court. Even though the Supreme Court has given death sentence to Afzal Guru, the Government is not implementing it. To hide such inaction, the Home Minister is issuing such political statements.